US Capitol Violence: अमेरिकी संसद में हुई हिंसा के बाद डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) पर सोशल मीडिया कंपनियों का शिकंजा कसता जा रहा है. डोनाल्ड ट्रंप को फेसबुक और इंस्टाग्राम (Instagram) से अनिश्चितकाल तक के लिए बैन कर दिया है. Facebook के CEO मार्क जुकरबर्ग ने एक पोस्ट लिखकर ट्रंप के खिलाफ एक्शन लिए जाने की जानकारी दी है. इससे पहले ट्विटर ने ट्रंप के कुछ ट्वीट्स को हटाने के साथ ही 12 घंटे के लिए उनका हैंडल सस्पेंड कर दिया था.Also Read - World News: अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव की बहस से पहले संक्रमित थे ट्रंप, मगर फिर भी भाग लिया- पूर्व सहयोगी की किताब में दावा

Also Read - PM Narendra Modi US Visit: प्रधानमंत्री मोदी के 7 साल और 7 बार अमेरिका यात्रा, जानें कब क्या हुआ खास

फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग ने एक पोस्ट के जरिए इस असाधारण कदम की घोषणा करते हुए कहा कि ट्रंप के भड़काने पर भीड़ द्वारा बुधवार को कैपिटल भवन (अमेरिकी संसद भवन) में घातक हमला किए जाने के बाद निवर्तमान राष्ट्रपति को इस मंच का इस्तेमाल करते रहने की अनुमति देने का जोखिम बहुत बड़ा है. Also Read - ट्रंप ने की बाइडेन की आलोचना, कहा- सेना की वापसी इतनी बुरी तरह कभी नहीं हुई

जुकरबर्ग ने कहा कि ट्रंप का अकाउंट ‘कम से कम आगामी दो सप्ताह तक’ बंद (लॉक) रहेगा और यह अनिश्चितकाल तक भी बंद रह सकता है.

इससे पहले ट्विटर ने चेतावनी दी कि अगर भविष्य में ट्रंप ने नियमों का उल्लंघन किया तो उनके अकाउंट पर स्थायी रूप से रोक लगा दी जाएगी. इससे पहले ट्विटर, फेसबुक और यूट्यूब ने ट्रंप का वीडियो हटा दिया था, जिसमें वह बुधवार को अपने समर्थकों से ‘घर जाने’ की अपील कर रहे थे और राष्ट्रपति चुनाव में धांधली होने की बात कह रहे थे.

कैपिटोल परिसर में प्रदर्शनकारियों के घुसने के करीब दो घंटे बाद ट्रंप ने यह वीडियो पोस्ट किया था. प्रदर्शनकारी इलेक्टोरल कॉलेज के नतीजों पर संसद के संयुक्त सत्र में व्यवधान डालना चाहते थे. इस सत्र में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन की जीत की पुष्टि होनी थी. फेसबुक के उपाध्यक्ष गॉय रोसेन ने बुधवार को कहा कि वीडियो को हटा दिया गया है क्योंकि इससे ‘हिंसा और भड़क सकती है.’

उधर, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कैपिटल बिल्डिंग में हिंसा भड़काने के लिए निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि यह देश के लिए ‘बेहद अपमान और शर्मिंदगी’ का पल है. यूएस कैपिटल में बुधवार के हजारों ट्रंप समर्थक दंगाइयों के घुसने के मामले में ओबामा का यह बयान आया. घटना के वक्त संसद का संयुक्त सत्र चल रहा था, जिसमें नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन की जीत की पुष्टि होनी थी.

ओबामा ने एक बयान में कहा, ‘इतिहास कैपिटल में हुई आज की हिंसा की घटना को याद रखेगा जिसे वैध चुनावी नतीजे के बारे में लगातार निराधार झूठ बोलने वाले एक निवर्तमान राष्ट्रपति ने भड़काया. यह अमेरिका के लिए बेहद अपमान और शर्म की बात है.’ पूर्व राष्ट्रपति ओबामा ने कहा, ‘लेकिन, अगर हम ऐसा कहेंगे कि यह एकदम अचानक हुई घटना है तो हम खुद से मजाक कर रहे होंगे.’ ओबामा ने रिपब्लिकन पार्टी और इसके मीडिया समर्थकों पर भी हमला करते हुए कहा कि वो राष्ट्रपति चुनावों में जो बाइडन की जीत को लेकर अपने समर्थकों से सच छुपाते रहे हैं.

(इनपुट: ANI, भाषा)