US Election: अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान हो चुका है और बीते कल डोनाल्ड ट्रंप और जो बाइडेन के बीच तीखी बहस भी देखने को मिली. लेकिन इस डोनाल्ड ट्रंप द्वारा सत्ता के हस्तांतरण को लेकर डिबेट छिड़ा हुआ है. क्योंकि बीते दिनों डोनाल्ड ट्रंप ने चेतावनी देते हुए इशारों-इशारों में कहा था कि अगर वोटिंग में या चुनावों में उन्हें कहीं भी धांधली दिखती है तो वे सत्ता का हस्तांतरण आसानी से नहीं करेंगे और उनके समर्थक सड़कों पर उतर आएंगे. Also Read - भारतीय मूल के दो प्रख्यात अमेरिकी जो बाइडेन के मुख्य सलाहकारों में शामिल

डोनाल्ड ट्रंप ने सत्ता के हस्तांतरण को शांतिपूर्ण तरीके से करने से इनकार कर दिया है. मीडिया से बात करते हुए एक सवाल के जवाब में ट्रंप ने कहा कि मैं अपने समर्थकों से मतदान में हिस्सा लेने के लिए कहूंगा. अगर चुनाव पारदर्शी तरीके से होगा तो मैं तैयार हूं. लेकिन अगर बैलेट संग छेड़छाड़ होगी तो फिर मैं ऐसा नहीं कर सकता हूं. बता दें कि ट्रंप मतदान के लिए बैलेट व ईमेल के इस्तेमाल का हमेशा विरोध करते रहे हैं. Also Read - Expenses in US presidential Election: दुनिया के सबसे ताकतवर व्यक्ति के चुनाव में खर्च होते हैं 1035000000000 रुपये ...होश मत खोइएगा!

बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप की स्थिति फिलहाल अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में जो बाइडन की अपेक्षा कमजोर नजर आ रही है. क्योंकि ट्रंप अपने शासन काल में कई मोर्चों पर विफल रहे हैं. हालांकि चुनावों में यह कहा नहीं जा सकता है कि किसकी हार होगी किसकी जीत. क्योंकि इससे पहले राष्ट्रपति चुनाव में जब डोनाल्ड ट्रंप की पहली बार जीत हुई थी, तब भी लोगों को यकीन नहीं हुआ था. हालांकि ट्रंप चाहते हैं कि चुनावों को कुछ समय के लिए टाल दिया जाए. लेकिन अमेरिका में चुनाव की तारीख को अब तय कर दिया गया है. Also Read - US Presidential Election 2020: अमेरिकी चुनाव में हो रहा है भारी मतदान, क्या है इसके मायने, क्या रिजल्ट में होगी दोरी?