नई दिल्ली: अमेरिका सरकार भारत को 200 वेंटिलेटर ‘दान’ करने की योजना बना रही है, जिसके तहत 50 वेंटिलेटरों की पहली खेप जल्द ही आने वाली है. एक अमेरिकी अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी है. अमेरिका की इस पहल का मकसद कोविड-19 के खिलाफ द्विपक्षीय सहयोग को मजबूती देना है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले सप्ताह ऐलान किया था कि अमेरिका कोविड-19 रोगियों के इलाज और इस ‘अदृश्य शत्रु’ के खिलाफ लड़ाई में मदद के लिये भारत को वेंटिलेटर दान करेगा. Also Read - World Enviorment Day 2020: ये शहर हैं दुनिया में सबसे ज्यादा प्रदूषित, जानें यहां क्यों बने ऐसे हालात

यूएस एजेंसी फॉर इंटरनेशनल डवलपमेंट (यूएसएआईडी) की कार्यवाहक निदेशक रमोना अल हमजवी से मीडिया के साथ टेली ब्रीफिंग के दौरान जब पूछा गया कि क्या भारत को इन वेंटिलेटरों की कीमत चुकानी होगी तो उन्होंने कहा कि यह ‘दान’ है. उन्होंने कहा, ‘अमेरिकी सरकार भारत को 200 वेंटिलेटर दान करने की योजना बना रही है. 50 वेंटिलेटरों की पहली खेप जल्द ही पहुंच जाएगी.’ Also Read - Covid-19: केंद्र सरकार ने कार्यालयों के लिए जारी की SOP, वर्क फ्रॉम होम के लिए कही ये बड़ी बात

हमजवी ने कहा, ‘हम स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, भारतीय रेड क्रॉस सोसायटी और भारत और अमेरिका के अन्य संबंधित हितधारकों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं, जो दान किए गए इन वेंटिलेटर की डिलीवरी, परिवहन और प्लेसमेंट की प्रक्रिया से जुड़े हुए हैं.’ उन्होंने कहा कि ये वेंटिलेटर भारत में चल रहे प्रयासों को मजबूती देने के लिये उपलब्ध कराए जाएंगे. Also Read - Coronavirus: केंद्र सरकार ने शॉपिंग मॉल के लिए जारी की नई गाइडलाइंस, जानें नियम

(इनपुट भाषा)