वाशिंगटन: अमेरिकी विदेश विभाग इस्लामिक स्टेट से संबद्ध सात संगठनों और दो लोगों को विशेष रूप से नामित आतंकवादी (एसडीजीटी) घोषित किया है. प्रतिबंध लगने के बाद अमेरिका के क्षेत्र में स्थित इनकी सारी संपत्ति जब्त मानी जाएंगी और दोनों की सहायता करने वाले व्यक्ति या संस्था पर कार्रवाई होगी. Also Read - कश्मीर: नदियों में बंकर बना रहे आतंकी, सेना से बचने को अपना रहे ऐसे-ऐसे तरीके

इसके अलावा जानबूझकर इन समूहों की किसी भी तरीके से मदद करना या किसी तरह का षडयंत्र रचना अपराध है. खबर के मुताबिक इन सात समूहों में से तीन आईएस-पश्चिम अफ्रीका, आईएस-फिलीपींस, आईएस-बांग्लादेश को विदेशी आतंकवादी संगठन (एफटीओ) घोषित किया गया है. Also Read - चीन ने दूसरे दिन ताइवान के जलडमरु मध्‍य के ऊपर 19 फाइटर जेट उड़ाए, US को लेकर दी धमकी

बता दें कि इन अलावा चार समूह आईएस-सोमालिया, जुंद अल-खलीफा-ट्यूनिशिया, आई-मिस्र और मॉते समूह है. इसके साथ ही जिन दो लोगों को वैश्विक आतंकवादी सूची में डाला गया है, वे महदा मोआलिम और अबू मुसाब अल-बरनावी है. गौरतलब हो कि अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को आतंकी संगठन करार देते हुए प्रतिबंधित सूची में डाल दिया था. जिसका भारत ने दिल स्वागत किया था. ( आईएएनएस- इनपुट ) Also Read - 5 चीनी हैकरों ने किया बड़ा साइबर अटैक, यूएस, भारत सरकार समेत 100 से ज्‍यादा कंपनियों डाटा चोरी किया