वाशिंगटन: अमेरिकी जांच एजेंसी सीआईए की प्रमुख जीना हास्पेल ने बृहस्पतिवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात कर उन्हें पत्रकार जमाल खशोगी की सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास के भीतर हुई हत्या के मामले में अपनी जांच की प्रगति के बारे में अवगत कराया. वहीँ सऊदी अरब का कहना है कि खशोगी की हत्या पूर्वनियोजित तरीके से किए जाने की सम्भावना से इंकार नहीं किया जा सकता.

सीएनएन को भेजी गई विस्फोटक सामग्री, ट्रम्प पर गैर जिम्मेदाराना रवैये का आरोप

छानबीन जारी है
व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने बताया कि तुर्की से वापस आने के बाद हास्पेल ने ट्रंप से भेंट कर खशोगी मामले में अबतक हुई अपनी छानबीन के बारे में उन्हें सूचित किया. सैंडर्स से इससे अधिक जानकारी देने से इंकार कर दिया. हास्पेल कल रात ही तुर्की से लौटी हैं. गौरतलब है कि दो अक्टूबर को जमाल खशोगी की इस्तांबुल स्थित सऊदी अरब दूतावास में कथित तौर पर हत्या कर दी गई थी.

पूर्व में सऊदी अरब का कहना था कि खशोगी की हत्या अचानक हुए झगड़े का परिणाम थी लेकिन अब सऊदी अरब के ताजा बयान में अंदेशा जताया गया है कि पत्रकार खशोगी की हत्या पूर्वनिर्धारित योजना के तहत की गई प्रतीत होती है.

जमाल खशोगी के बेटे ने प्रतिबंध हटते ही परिवार सहित सऊदी अरब छोड़ा: ह्यूमन राइट्स वॉच

अपनी तुर्की यात्रा में उन्होंने खशोगी हत्या मामले की जांच कर रहे अधिकारियों से मुलाकात की थी. तुर्की अधिकारियों ने कहा है कि उनके पास इस हत्या को लेकर ऑडियो सुबूत हैं. वाशिंगटन पोस्ट ने खबर दी है कि हास्पेल ने इन टेपों को सुना है. (इनपुट भाषा)