नई दिल्‍ली: भारत-चीन के बीच तनाव के बीच अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने दोनों देशों के बीच सीमा विवाद को लेकर बढ़े तनाव के बीच मध्‍यस्‍थता करने की पेशकश की है. राष्‍ट्रपति ट्रंप ने बुधवार को एक ट्वीट में कहा, हमने भारत और चीन दोनों को सूचित कर दिया है कि अमेरिका तैयार है. दोनों देशों के बीच बढ़ रहे सीमा विवाद को लेकर मध्‍यस्‍थ बनने की इच्‍छा है और मध्‍यस्‍थता करने की क्षमता है. Also Read - US-China Conflict News: राष्ट्रपति ट्रम्प ने हांगकांग को मिलने वाली विशेष तरजीह खत्म की

अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने अपने टि्वटर हैंडल पर ट्वीट किया है, हमने भारत और चीन दोनों को सूचित कर दिया है कि अमेरिका तैयार है. दोनों देशों के बीच बढ़ रहे सीमाओं विवाद को लेकर इच्‍छा है और मध्‍यस्‍थता करने की क्षमता है. Also Read - अब अमेरिका से भिड़ा चीन, बोला- एक हजार साल से दक्षिण चीन सागर हमारा है

वहीं, आज चीनी विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि भारत के साथ सीमा पर हालात ”पूरी तरह स्थिर और नियंत्रण-योग्य” हैं और दोनों देशों के पास बातचीत और विचार-विमर्श करके मुद्दों को हल करने के लिए उचित तंत्र और संचार माध्यम हैं.

बता दें कि भारत और चीन के बीच बीते 21 दिनों से एलएसी पर गतिरोध बढ़ा हुआ है और दोनों देशों ने अपनी-अपनी ओर से सैनिकों का जमावड़ा बढ़ा दिया है.

भारत के साथ सीमा पर हालात ”पूरी तरह स्थिर और नियंत्रण-योग्य” हैं चीन
चीन ने बुधवार को कहा कि भारत के साथ सीमा पर हालात ”पूरी तरह स्थिर और नियंत्रण-योग्य” हैं और दोनों देशों के पास बातचीत और विचार-विमर्श करके मुद्दों को हल करने के लिए उचित तंत्र और संचार माध्यम हैं. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत और चीन की सेनाओं के बीच चल रहे गतिरोध की पृष्ठभूमि में ये टिप्पणियां कीं.

शी चिनफिंग सेना को युद्ध की तैयारियां करने के लिए कहा 
चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता यह बयान उस बयान के एक दिन बाद आया है, जिसमें चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने सबसे खराब स्थिति की कल्पना करते हुए सेना को युद्ध की तैयारियां तेज करने का मंगलवार को आदेश दिया और उससे पूरी दृढ़ता से देश की संप्रभुता की रक्षा करने को कहा था.

मीटिंग में शी ने पीएलए को दिया था ये आदेश
सत्तारूढ़ चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) के महासचिव 66 वर्षीय शी ने संसद सत्र के दौरान पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) और पीपुल्स आर्म्ड पुलिस फोर्स के प्रतिनिधियों की पूर्ण बैठक में हिस्सा लेते हुए यह टिप्प्णी की थी. दोनों देशों के बीच हुए समझौते का सख्ती से पालन करते रहे हैं

दोनों देशों समझौते का सख्ती से पालन करते रहे हैं
चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजिआन ने बीजिंग संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सीमा से संबंधित मुद्दों पर चीन का रुख स्पष्ट और सुसंगत है. उन्होंने कहा, ”हम दोनों नेताओं के बीच बनी महत्वपूर्ण सहमति और दोनों देशों के बीच हुए समझौते का सख्ती से पालन करते रहे हैं.”

पीएम मोदी से अनौपचारिक बैठकों के बाद कदम उठाए गए थे
वह चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दो अनौपचारिक बैठकों के बाद उनके उन निर्देशों का जिक्र कर रहे थे, जिनमें उन्होंने दोनों देशों की सेनाओं को परस्पर विश्वास पैदा करने के और कदम उठाने के लिए कहा था.

दो सप्‍ताह से ज्‍यादा तनाव बरकरार
हाल ही में लद्दाख और उत्तरी सिक्किम में भारत और चीन की सेनाओं ने अपने-अपने सैनिकों की मौजूदगी बढ़ाई है. यह दोनों देशों की सेनाओं के बीच दो अलग-अलग तनातनी के दो सप्ताह बीत जाने के बाद भी तनाव बढ़ने और दोनों पक्षों के रुख में कठोरता आने का स्प्ष्ट संकेत देता है.