वाशिंगटन: चीन और अमेरिका का ट्रेड वॉर गंभीर रुख अख्तियार करता दिख रहा है. पिछले माह कनाडा में चीन की हुवावे कंपनी की सीएफओ की गिरफ्तारी के बाद चीन ने जवाबी कारवाई करते हुए दो कनाडाई नागरिकों को गिरफ्तार कर लिया था. ऐसे में अमेरिका ने चीन की यात्रा कर रहे अपने नागरिकों को अति सतर्कता बरतने की सलाह दी है क्योंकि अमेरिका का कहना है कि चीन में ‘‘स्थानीय कानूनों को मनमाने तरीके से लागू किया जा रहा है’’ और अमेरिका-चीन की दोहरी नागरिकता वाले लोगों पर विशेष प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं. अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए चिंतित अमेरिका ने चीनी अधिकारियों द्वारा दो कनाडाई नागरिकों की गिरफ्तारी के बाद यह चेतावनी जारी की है.

अमेरिका में कामकाज ठप होने से Newlyweds परेशान, शादी को नहीं मिल पा रहा कानूनी दर्जा !

एग्जिट प्रतिबंध का प्रयोग कर रहा चीन
अमेरिका द्वारा जारी नयी यात्रा चेतावनी में अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा है कि चीनी अधिकारियों ने अमेरिकी नागरिकों को चीन से बाहर निकलने से रोकने के लिए ‘एग्जिट प्रतिबंध’ लगाने शुरू कर दिए हैं. कुछ मामलों में वह वर्षों तक अमेरिकी नागरिकों को चीन में रोके रखते हैं. चेतावनी में आरोप लगाया गया है कि चीन ‘एग्जिट प्रतिबंध’ का इस्तेमाल दंडात्मक तरीके से करता है ताकि वह अमेरिकी नागरिकों को चीन सरकार की जांच में भाग लेने के लिए मजबूर कर सके, लोगों को चीन वापस लौटने का लालच दे सके और दीवानी विवादों का फैसला चीनी पक्षकारों के पक्ष कराने में सहयोग/सहायता ले सके.

विदेश मंत्रालय ने कहा, ज्यादातर मामलों में अमेरिकी नागरिकों को एग्जिट प्रतिबंध के बारे में तब पता चलता है जब वह चीन छोड़ने की कोशिश करते हैं और उन्हें यह भी नहीं पता चल पाता कि यह प्रतिबंध कब तक चलेगा. एक्जिट प्रतिबंध के दौरान अमेरिकी नागरिकों को प्रताड़ित किया जाता है और उन्हें धमकाया भी जाता है.” चेतावनी में कहा गया है कि अमेरिकी नागरिकों को दूतावास से संपर्क किए बगैर और उनका अपराध बताए बगैर गिरफ्तार कर लिया जाता है. विदेश मंत्रालय ने आगाह किया, “अमेरिकी नागरिकों से राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े कारणों का हवाला देते हुए लंबे समय तक पूछताछ की जाती है और उनकी हिरासत अवधि भी बढ़ा दी जाती है.

Huawei CFO की गिरफ्तारी का मामला: कनाडा का चीन से वादा ‘ईमानदारी’ से होगी कारवाई

दुनिया की अन्य खबरें पढने के लिए क्लिक करें