वाशिंगटनः अमेरिका के आयोवा प्रांत में 44 वर्षीय भारतीय अमेरिकी आईटी पेशेवर ने अपने घर में गोली मारकर आत्महत्या करने से पहले अपनी पत्नी और दो नाबालिग बेटों को मार दिया था. एक ही परिवार के ये चार लोग रहस्यमयी परिस्थितियों में अपने घर में मृत पाए गए थे. इस घटना ने पूरे समुदाय को स्तब्ध कर दिया. उनके शरीर पर गोली लगने के निशान थे.

मामले की जांच कर रहे वेस्ट डेस मोइन्स पुलिस विभाग रविवार को फॉरेंसिक पोस्टमार्टम करने के बाद इस नतीजे पर पहुंचा. चंद्रशेखर सुंकारा, लावन्या सुंकारा (41) और उनके 15 साल तथा 10 साल के बेटे शनिवार सुबह अपने घर में मृत पाए गए थे.

पुलिस ने एक बयान में कहा, ‘‘लावन्य सुंकारा और दो लड़कों की जिस तरीके से मौत हुई वह हत्या है. चंद्रशेखर सुंकारा की मौत का तरीका आत्महत्या है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘राज्य चिकित्सा जांच अधिकारी ने परिवार के सभी चारों सदस्यों की मौत का कारण गोली मारा जाना बताया है.’’ चंद्रा के नाम से पहचाने जाने वाला चंद्रशेखर आंध्र प्रदेश का रहने वाला था. आयोवा जन सुरक्षा विभाग (डीपीएस) ने बताया कि वह विभाग के प्रौद्योगिकी सेवा ब्यूरो में आईटी पेशेवर था.