वॉशिंगटन: चीन और अमेरिका के बीच चल रहे व्यापारिक और सामरिक तनावों के बीच अमेरिका के नौ-सेना प्रमुख अगले हफ्ते अपने चीनी समकक्ष से मुलाकात करने के लिए चीन का दौरा करेंगे. अधिकारियों ने बताया कि दोनों देशों के बीच जारी व्यापार तनाव के बीच दोनों ताकतें सैन्य जोखिमों यानि युद्ध के खतरों को कम करना चाहती है और इसी सिलसिले में यह मुलाकात होगी. Also Read - US Election: भारतवंशी निक्की हेली का दावा, अमेरिका ने तोड़ी पाकिस्तान की कमर, बंद की अरबों की फंडिंग

Also Read - चीन ने कई जगहों पर नेपाल की जमीन पर अवैध कब्जा किया, भारतीय खुफिया एजेंसियां सतर्क

चीन के रवैये से डरा अमेरिका, चीन की यात्रा करने वाले नागरिकों के लिए जारी की ‘एडवाईजरी’ Also Read - चीन को जवाब! मालाबार युद्धाभ्यास में अमेरिका और जापान के अलावा अब ऑस्ट्रेलिया भी होगा शामिल

सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक नौ-सैन्य अभियान के प्रमुख एडमिरल जॉन रिचर्डसन 13 से 16 जनवरी के बीच बीजिंग एवं नानजिंग की यात्रा करेंगे और वहां वह पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी नेवी की कमान संभाल रहे वाइस एडमिरल शेन जिनलोंग से मुलाकात करेंगे. रिचर्डसन ने एक बयान में बताया, “विचारों का नियमित आदान-प्रदान जरूरी है खासकर टकराव के वक्त ताकि जोखिम को कम किया जा सके और गलत अनुमानों से बचा जा सके.”

अमेरिका: पहली हिंदू सांसद तुलसी गेबार्ड लड़ेंगी राष्ट्रपति चुनाव, पीएम मोदी और भारत की हैं समर्थक

गौरतलब है कि चीन एवं अमेरिका के बीच वित्तीय प्रतिबंधों, जारी व्यापार विवाद और अमेरिकी सैन्य विमानन पुर्जों को स्वायत्त ताइवान को बेचे जाने को लेकर तनाव बढ़ जाने के बाद यह दौरा हो रहा है. नौ-सेना के प्रमुख के तौर पर रिचर्डसन दूसरी बार चीन का दौरा करेंगे. दोनों देशों के बीच बढ़ते व्यापारिक तनावों के बीच अभी कुछ दिन पूर्व ही अमेरिका ने अपने नागरिकों को चीन यात्रा के दौरान विशेष सावधानी बरतने के लिए आगाह भी किया था. (इनपुट एजेंसी)

व्यापारिक गतिरोध दूर करने की कवायद, अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल वार्ता के लिए जाएगा चीन