वॉशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रूसी जांच से जुड़े एफबीआई के दस्तावेजों को जारी करने के अपने ही आदेश के क्रियान्वयन को टाल दिया है और कहा कि न्याय मंत्रालय और अमेरिकी सहयोगियों ने इस खुलासे पर सुरक्षा चिंताएं व्यक्त की है. अनेक ट्वीट के जरिए की गई घोषणा राष्ट्रपति के उस रवैये के विपरीत है, जिनमें वह लगातार गोपनीय सूचनाओं को जारी करने की मांग करते रहे हैं और मानते रहे हैं कि इससे रूस और ट्रंप चुनाव प्रचार के बीच किसी प्रकार के तार जुड़े होने की विशेष वकील रॉबर्ट मुलर की जांच सवालों और संशय के घेरे में
आएगी और एफबीआई के खराब पहलू उजागर होंगे. Also Read - Covid-19: चीन ने अमेरिका को दिया बड़ा मदद, महामारी से लड़ने के लिए भेजे इतने टन चिकित्सा सामग्री 

राष्ट्रपति ने सोमवार को रूसी जांच से जुड़े बेहद संवेदनशील दस्तावेजों को जारी करने का आदेश दिया था. न्याय मंत्रालय ने कहा कि उसने आदेश का पालन करना शुरू कर दिया था. बहरहाल, अधिकारियों ने पूर्व ने खुफिया दस्तावेजों को जारी करने में गंभीर आपत्ति जताई थी. उनका कहना था कि इससे जांच प्रभावित हो सकती है और यह खुफिया सूत्रों से समझौते करने जैसा होगा.

प्रेसिडेंट ट्रंप ने कहा कि एकदम से आगे बढ़ने की बजाए मंत्रालय के इंस्पेक्टर जनरल से इन दस्तावेजों की त्वरित आधार पर समीक्षा करने को कहा गया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि उनका मानना है कि कार्यालय इस पर शीघ्र काम करेगा. ट्रंप ने कहा, ”अंत में अगर जरूरी हुआ तो मैं इन्हें जारी कर सकता हूं.”