वाशिंगटन: माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर लोग सीधे अपने पसंदीदा सेलेब्रिटी तक अपनी बात पहुंचा सकते हैं. कई बार कुछ लोग इसका गलता फायदा भी उठाते हैं और सेलेब्रिटी को अपशब्द भी कह देते हैं. इसी समस्या से निपटने के लिए ट्विटर पर किसी को ब्लॉक करने का ऑप्शन होता है लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अब इस इस ‘सुविधा’ का लाभ नहीं उठा पाएंगे क्योंकि अमेरिकी संघीय अदालत ने गुरुवार को आदेश दिया कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ट्विटर पर अपने फॉलोवर्स को ब्लॉक नहीं कर सकते हैं क्योंकि इससे ‘फर्स्ट अमेंडमेंट’ का उल्लंघन होता है. Also Read - Ramayana फिर शुरू, पहले एपिसोड में 'राम-सीता' को देख लगे जयकारे, घरों का ऐसा रहा नज़ारा

न्यूयॉर्क सदर्न डिस्ट्रिक्ट में अमेरिकी डिस्ट्रिक्ट जज नाओमी रीस बुचवाल्ड ने ट्विटर पर ट्रंप के सात फॉलोवर्स के समूह की याचिका पर यह फैसला सुनाया है. याचिकाकर्ताओं ने आरोप लगाया था कि राष्ट्रपति ट्रंप ने ट्विटर पर अपने संदेश देखने से उन्हें रोक दिया है और यह गैर कानूनी है. Also Read - डोनाल्ड ट्रंप ने दी सलाह- आराम से बैठें, सलीके से पेश आएं, हाथ धोएं और अमेरिका पर गर्व करें

अदालत से इस बात पर विचार करने को कहा गया था कि ‘फर्स्ट अमेंडमेंट’ के दायरे में आने वाले सरकारी अधिकारी क्या ट्विटर अकाउंट पर किसी व्यक्ति को उसके राजनीतिक विचारों के आधार पर ब्लॉक कर सकता है और सार्वजनिक पद पर बैठा व्यक्ति यदि अमेरिका का राष्ट्रपति है तो क्या यह विश्लेषण बदल जाता है. Also Read - कोरोना से बेबस हुआ दुनिया का सबसे ताकतवर मुल्क अमेरिका, एक लाख से अधिक हुए संक्रमण के मामले

बुचवाल्ड ने 75 पन्नों के अपने फैसले में कहा, ‘‘दोनों सवालों का जवाब नहीं है.’’ हालांकि अमेरिकी न्याय विभाग ने अदालत के फैसले से असहमति जताई. विभाग के प्रवक्ता केरी कुपेक ने कहा, ‘‘हम अदालत को पूरा सम्मान देते हुए कहना चाहते हैं कि उसके फैसले से हम सहमत नहीं हैं और अपने अगले कदमों पर विचार कर रहे हैं’’

(इनपुट: एजेंसी)