नई दिल्लीः दुनियाभर में इन दिनों कोरोना वायरस (Corona Virus) ने तहलका मचा रखा है. अमेरिका में कोरोना संक्रमण के चलते अब तक 1.34 लाख लोगों की मौत हो चुकी है. इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति पहली बार मास्क में दिखाई दिए. इसके पहले कई बार डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) कई बार दिखाई दिए, लेकिन वह कभी भी मास्क में नजर नहीं आए. जिसकी वजह से कई बार उन्हें आलोचनाओं का सामना भी करना पड़ा. दरअसल, ट्रंप ने कुछ महीनों पहले ही सार्वजनिक रूप से मास्क पहनने से इनकार कर दिया था. लेकिन, शनिवार को जब वह अस्पताल के दौरे के लिए निकले तो सुरक्षा के हिसाब से उन्होंने मास्क लगा लिया. Also Read - अमेरिका से अपने देश लौटे तनुज बने गरीबों के मसीहा, 4 लाख से ज्यादा लोगों का भर चुके हैं पेट

ट्रंप कोविड-19 मरीजों की देखभाल कर रहे स्वास्थ्यसेवा कर्मियों और घायल सैन्यकर्मियों से मिलने के लिए हेलीकॉप्टर से उपनगरीय वाशिंगटन स्थित ‘वाल्टर रीड नेशनल मिलिट्री मेडिकल सेंटर’ पहुंचे. उन्होंने व्हाइट हाउस से निकलते समय संवाददाताओं से कहा, ‘‘खासकर, जब आप किसी अस्पताल में हों, तो मुझे लगता है कि मास्क पहनना चाहिए.’’ ट्रम्प वाल्टर रीड के गलियारे में मास्क पहने नजर आए. हालांकि जब वह हेलीकॉप्टर से उतरे थे, तब उन्होंने मास्क नहीं पहन रखा था. Also Read - डोनाल्ड ट्रम्प ने 10 साल का इनकम टैक्स नहीं दिया, बोले- मेरे साथ होता है बुरा बर्ताव

अमेरिका में कोरोना वायरस से 32 लाख लोग संक्रमित हैं और इससे कम से कम 1,34,000 लोगों की मौत हो गई है. ट्रम्प को भले ही पहली बार मास्क पहने देखा गया हो, लेकिन देश के उपराष्ट्रपति माइक पेंस समेत कई शीर्ष रिपब्लिकन नेता सार्वजनिक स्थलों पर मास्क का इस्तेमाल करते हैं. इससे पहले, ट्रम्प ने संवाददाता सम्मेलनों, रैलियों और अन्य सार्वजनिक स्थलों पर मास्क पहनने से इनकार कर दिया था.

ट्रम्प के नजदीकी लोगों ने ‘एपी’ को बताया कि राष्ट्रपति को इस बार का डर है कि मास्क पहनने से वह कमजोर प्रतीत होंगे और इससे लोगों का ध्यान आर्थिक रूप से उबरने के बजाए जन स्वास्थ्य संकट पर केंद्रित हो जाएगा. हालांकि, ट्रंप का कहना है कि वह कभी भी मास्क के खिलाफ नहीं थे. लेकिन, उन्हें लगता है कि मास्क पहनने का एक समय और जगह होती है. जहां, यह पहना जाए तो अच्छा है.