न्यूयॉर्क: संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने राष्ट्रपति चुनाव में अपनी हार मान ली, लेकिन साथ में ये भी कहा कि डेमोक्रेट नेता जो बाइडेन (Joe Biden) की जीत एक धोखा है. एक ट्वीट में ट्रंप ने कहा- “वह जीता, क्योंकि चुनाव में धांधली हुई है.” ट्रंप ने 3 नवंबर को हुए चुनाव के नतीजे टेलीविजन चैनलों पर प्रसारित किए गए थे, जिसके आधार पर बाइडेन विजेता थे, हालांकि गिनती अभी भी जारी थी और कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई थी. Also Read - अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस छोड़ने के दिये संकेत, अधिकारियों से कही यह बात...

शुक्रवार को मीडिया ने बाइडेन को इलेक्टोलेरल कॉलेज के 306 वोट दिए और ट्रंप को 232 वोट. चुनाव जीतने के लिए 270 इलेक्टोरल वोटों की जरूरत होती है. चुनाव परिणामों की मीडिया पर घोषणा को रिपब्लिकन समेत कई अमेरिकी नेताओं ने स्वीकार किया, यहां तक कि अंतर्राष्ट्रीय नेताओं ने भी इन नतीजों को माना जिनमें भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल हैं, जिन्होंने बाइडेन और कमला हैरिस को जीत पर बधाई दी. Also Read - जो बाइडेन ने की कैबिनेट की घोषणा- एंटनी ब्लिंकेन अमेरिका के नए विदेश मंत्री होंगे, जानें किसे मिली कौन सी जिम्मेदारी

शुक्रवार को कोविड-19 के बढ़ते मामलों पर बोलते हुए बाइडेन ने घोषणा की, “मैं राष्ट्रपति-निर्वाचित हूं.” लेकिन अमेरिका में इसके बावजूद सत्ता हस्तांतरण का भविष्य अभी भी अनिश्चित है क्योंकि ट्रंप प्रशासन ने अब तक बाइडेन की टीम को सुविधाएं देने या जानकारी साझा करने से इनकार किया है. Also Read - जी20 शिखर सम्मेलन में बोले पीएम मोदी- बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के प्रयासों से महामारी से उबर सकेंगे

ट्रंप ने अभी तक यह संकेत नहीं दिया है कि क्या वो बाइडेन को सत्ता हस्तांतरण में सहयोग करेंगे या फिर देशभर में दायर मुकदमों को वापस लेंगे. उनके हजारों समर्थकों ने शनिवार को वाशिंगटन में एक रैली में मार्च किया, उन्होंने कहा, “स्टॉप द स्टील (चोरी करना बंद करो).” ट्रंप उस रैली के पास से गुजर गए लेकिन उन्होंने किसी को रोका या टोका नहीं.

बाद में शाम के समय, ट्रंप-विरोधी प्रदर्शनकारी ट्रंप समर्थकों के साथ भिड़ गए, जिसके बाद लगभग 20 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया, लेकिन कोई व्यापक हिंसा या लूटपाट नहीं हुई. मतदान में धांधली का आरोप लगाते हुए ट्रंप ने अपने ट्वीट में आगे कहा, “किसी पर्यवेक्षक को अनुमति नहीं दी गई, वोटों की गिनती एक कट्टरपंथी वामपंथी निजी कंपनी द्वारा कराई गई, ऐसी कंपनी जिसकी प्रतिष्ठा खराब है.”

एक अन्य ट्वीट में ट्रंप ने कहा, “इलेक्शन नाइट पर होने वाले सभी मैकेनिकल ‘ग्लिचेज’ वास्तव में वोट चुराने की कोशिश थी. वे बहुत सफल हुए, हालांकि पकड़े नहीं गए. मेल-इन वोट एक मजाक है!” अपने कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम की प्रगति पर शुक्रवार को व्हाइट हाउस में ब्रीफिंग के दौरान ट्रंप ने संकेत दिया कि वो चुनाव हार गए हैं. लॉकडाउन की संभावना पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा, “भविष्य में जो कुछ भी होता है, कौन जानता है, कौन सा प्रशासन होगा, मुझे लगता है कि समय बताएगा.”

बाइडेन टीम के अधिकारी जेन साकी ने शुक्रवार को कहा था कि “हमें जानकारी नहीं है कि कोविड-19 पर चल रहा काम कहां तक पहुंचा है. शासन चलाने के लिए हमें इसकी जानकारी चाहिए ताकि हम अपने आप को तैयार कर सकें.” अमेरिका में कानूनी रूप से निर्वाचित राष्ट्रपति को सत्ता हस्तांतरित करने के लिए आधिकारिक सुविधाएं दी जाती हैं. ट्रंप प्रशासन के अधिकारियों ने कहा कि वो चुनाव परिणाम के आधिकारिक घोषणा की प्रतीक्षा कर रहे हैं.