न्यूयॉर्क: अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव 2020 को लेकर ओहायो के क्लीवलैंड में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडन के बीच प्रेसिडेंशियल डिबेट के दौरान जुबानी जंग खूब देखने को मिली. बहस के दौरान ‘मसखरा’, ‘झूठा’, ‘एक मिनट के लिए चुप हो जाओ’, ‘भौंकते रहो’ जैसी अपमानजनक टिप्पणियां की गईं. फॉक्स न्यूज के एंकर क्रिस वैलेस ने इस बहस को मॉडरेट किया और राष्ट्रपति ट्रंप इस दौरान आक्रामक तेवर में दिखाई दिए. इस बात लेकर भी बहस छिड़ गई है कि बहस को मॉडरेट करने वाले वैलेस ने ट्रंप को इतना आक्रामक तेवर, ऐसी तीखी टिप्पणियां कैसे करने दी.Also Read - कोई नहीं है टक्कर में, दुनिया के नंबर वन नेता हैं पीएम मोदी, बाइडन-जॉनसन सब रह गए पीछे, देखें तस्वीरें.

ट्रंप ने 90 मिनट की बहस के दौरान काफी तीखी बहस की और एक मोड़ पर कहा,” मैं तुम्हें बताता हूं जो, तुम वो काम कभी नहीं कर सके जो हमने कर दिखाया. तुम्हारे खून में यह नहीं है.” वहीं, बाइडन ने पलटवार करते हुए कहा, “वह यहां जो कह रहे हैं, वह झूठ है.” उन्होंने कहा, “गलत शख्स, गलत रात, गलत समय.” बाइडन ने कई बार कहा, “यह शख्स नहीं जानता कि वह किस बारे में बात कर रहा है.” मिसूरी से पूर्व सीनेटर क्लेयर मैककैस्किल ने बहस के बारे में कहा, “मैं 80 प्रतिशत दुखी हूं और 20 प्रतिशत बौखलाई हुई हूं.” Also Read - 5G Effect On Aviation: अमरीका में 5G सेवाओं को लेकर Aviation सेक्टर परेशान | हजारों उड़ानें रद्द होने का खतरा

वाशिंगटन पोस्ट के स्तंभकार यूजीन रॉबिन्सन का मानना है कि “अधिकांश देशवासी व्याकुल हैं. मुझे नहीं पता कि हमने क्या बकवास देखा.” डेमोक्रेटिक रणनीतिकार जेम्स कारविले के अनुसार, 25 मिनट तक यह देखने लायक नहीं था. 10 मिनट से भी कम समय में, बहस ने व्यक्तिगत हमलों का रूप अख्तियार कर लिया, जब मॉडरेटर बाइडन के दो मिनट के टॉक टाइम के दौरान ट्रंप को शांत रखने में विफल रहे. नाराज बाइडन ने ट्रंप से कहा, “क्या तुम चुप रहोगे?” पहली बहस के परफॉर्मेस पर प्रतिक्रिया देते हुए डेमोक्रेटिक पार्टी की उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार कमला हैरिस ने कहा कि “अमेरिका को बहुत स्पष्ट विकल्प मिल गया है.” उन्होंने ट्रंप को अपनी गहराई से बाहर निकलने और अपना बचाव करने वाला शख्स बताया. Also Read - Covid 19 USA: अमेरिका में कोरोना से 8.51 लाख लोग एक दिन में संक्रमित, मदद के लिए भेजी गई अमेरिकी सेना

बराक ओबामा के पूर्व कैम्पेन मैनेजर डेविड प्लॉफ ने कहा, “आज रात के इस परफॉर्मेस से लोगों को समझ में आ जाएगा कि ट्रंप एक और कार्यकाल के योग्य नहीं हैं.” डोनाल्ड ट्रंप और जो बाइडन की बहस के दौरान तीखी जुबानी जंग देखने को मिली. ट्रंप के कोरोनवायरस प्रतिक्रिया, नस्लीय न्याय, अर्थव्यवस्था और एक दूसरे की फिटनेस को लेकर निशाना साधा गया. बाइडन ने कहा, “सच यह है कि उन्होंने अब तक जो कुछ भी कहा है वह सिर्फ एक झूठ है.” बाइडन पहले पांच मिनट के भीतर ट्रंप पर खूब हावी दिखे और उन्हें आड़े हाथो लिया. उन्होंने ट्रंप से कहा कि वह अपने बंकर से बाहर निकलें. ओवल ऑफिस के अपने गोल्फ कोर्ट जाएं और लोगों को बचाने के लिए एक योजना बनाएं. जब ट्रंप 2016 और 2017 में संघीय आयकरों में महज 750 डॉलर का भुगतान करने वाली रिपोटरें के बारे में सवालों का ठीक से जवाब नदीं दे पाए तो बाइडन ने कहा, “हमें अपने करों को दिखाएं. अपने करों को दिखाएं.”

उन्होंने ट्रंप के प्रति काफी हमलावर रुख दिखाया, भले ही ट्रंप ने दावा किया कि उन्होंने लाखों डॉलर का आयकर भुगतान किया है. हालिया सर्वे से पता चलता है कि ट्रंप की लोकप्रियता 2016 के बाद से लुढ़क गई है. बाइडन सभी सर्वे में ट्रंप से आगे हैं, भले ही अंतर ज्यादा न हो. ट्रंप ने श्वेत वर्चस्ववादियों की निंदा करने से इनकार कर दिया और रात की बहस का समापन इस बात को बताने से इनकार करने के साथ किया कि क्या वह चुनाव परिणामों को स्वीकार करेंगे. ट्रंप की कोरोनोवायरस प्रतिक्रिया इस बहस में छाई रही. बाइडन ने कोविड-19 प्रतिक्रिया पर ट्रंप को विफल कहा.