वाशिंगटन: अमेरिका के विशेष दूत स्टीफन बीगन ने खुलासा करते हुए कहा है कि उत्तर कोरिया ने अपने सभी परमाणु सामग्री संवर्धन केंद्रों को नष्ट करने का संकल्प लिया है. ‘बीबीसी’ की शुक्रवार की रपट के अनुसार, स्टीफन बीगन ने कहा है कि वह संबंधित उपायों पर चर्चा करने की योजना बना रहे हैं, ताकि अमेरिका देश को परमाणु निरस्त्रीकरण की ओर ले जा सके. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका को हालांकि पहले देश के हथियार कार्यक्रमों के बारे में ‘पूरी समझ’ विकसित करने की जरूरत है. Also Read - US Election: भारतवंशी निक्की हेली का दावा, अमेरिका ने तोड़ी पाकिस्तान की कमर, बंद की अरबों की फंडिंग

Also Read - अमेरिकी राष्ट्रपति का कार्यक्रम लीक, काम-काज के दिनों का 60 प्रतिशत समय आराम करते है ट्रंप !

विदेशियों को गैरकानूनी रूप से अमेरिका में रहने में मदद करने के आरोप में 8 भारतीय गिरफ्तार Also Read - अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा- हनोई में किम के साथ करेंगे दूसरी शिखर वार्ता

ट्रंप- किम दूसरी मुलाकात की ओर !

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी पहले कहा है कि इस मुद्दे पर दोनों देशों ने जबरदस्त प्रगति की है. ओवल ऑफिस में गुरुवार को राष्ट्रपति ने कहा कि वह उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन के साथ मुलाकात की तारीख और स्थान की जल्द घोषणा करेंगे. इससे पहले दोनों पिछले साल सिंगापुर में मुलाकात कर चुके हैं. वहीं, कैलिफोर्निया की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में एक भाषण में बीगन ने कहा कि उत्तर कोरिया ने अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो और दक्षिण कोरिया से इस बात का वादा किया है.

अभी नहीं हटेंगे प्रतिबंध

उन्होंने कहा कि अमेरिका को पहले उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम तक विशेषज्ञों की पहुंच और निगरानी तंत्र पर सहमत होने की जरूरत है. उन्होंने कहा, “राष्ट्रपति ट्रंप इस युद्ध को खत्म करने के लिए तैयार हैं. हम उत्तर कोरिया पर हमला करने नहीं जा रहे हैं. हम इसकी सरकार को गिराने की कोशिश नहीं कर रहे हैं.” बीगन ने हालांकि स्पष्ट कर दिया कि अमेरिका, उत्तर कोरिया के पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण तक उस पर लागू प्रतिबंधों को नहीं हटाएगा. बीगन तीन फरवरी को दक्षिण कोरिया में अपने उत्तर कोरियाई समकक्ष से चर्चा के लिए मुलाकात करेंगे. (इनपुट एजेंसी)

ऑस्ट्रेलिया में बसने के लिए पंजाब के सगे भाई बहन ने रचाई शादी!