वाशिंगटन: अमेरिका सऊदी तेल संयंत्रों पर हुए हमलों के बाद सऊदी अरब में लगभग 200 सहायता सैनिकों और मिसाइल रक्षा उपकरणों को तैनात करेगा. अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने यह बात कही. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, पेंटागन की ओर से गुरुवार को जारी एक बयान में एस्पर ने कहा कि अमेरिका एक पैट्रियट मिसाइल सिस्टम बैटरी, चार सेंटिनल रडार और लगभग 200 सहायता सैनिकों को भेजेगा. Also Read - 20 जनवरी से राष्ट्रपति नहीं रहेंगे डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिका में हिंसा की आशंका, वाशिंगटन बुलाए गए हजारों सैनिक

Also Read - भारतीय नागरिक ने अमेरिका में किया 58 करोड़ का घोटाला, हजारों लोगों के साथ की धोखाधड़ी, दोष सिद्ध

बयान के अनुसार, यह कदम महत्वपूर्ण सैन्य और नागरिक बुनियादी ढांचे के लिए देश की एयर और मिसाइल रक्षा में वृद्धि करेगा. एस्पर ने कहा कि उन्होंने दो और पैट्रियट बैटरी और एक टर्मिनल हाई एल्टीट्यूड एरिया डिफेंस सिस्टम (टीएचएएडी) सहित अतिरिक्त अमेरिकी सेनाओं को तैनात करने की मंजूरी दे दी है. Also Read - डोनाल्ड ट्रंप की बढ़ने वाली हैं मुश्किलें, राष्ट्रपति पद पर रहने के कुछ ही दिन बचे हैं, लेकिन...

भारत के बाद अमेरिका में हैं महात्मा गांधी की सबसे ज्यादा प्रतिमाएं और स्मारक

पेंटागन प्रमुख की घोषणा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा खाड़ी में और अधिक अमेरिकी सेना भेजने को मंजूरी देने के एक सप्ताह बाद सामने आई है. वाशिंगटन ने इस महीने की शुरुआत में पूर्वी सऊदी अरब में तेल उत्पादन संयंत्रों पर ड्रोन हमलों के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराया था, हालांकि ईरान ने इन आरोपों को सिरे से नकार दिया.

ऑस्ट्रेलिया में अब फेसबुक यूजर्स को मिलने वाले लाइक्स नहीं देख पाएंगे दूसरे लोग