कश्मीर में आतंकी संगठनों को एक और बड़ा झटका लगा है. अमेरिका ने  कश्मीर में आतंकवाद फैलाने वाले पाकिस्तान के आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन पर पाबंदी लगा दी है. अमेरिका ने हिज्बुल को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी संगठन घोषित कर दिया है. Also Read - NIA ने Lashkar-e-Mustafa के चीफ हिदायत-उल्ला मलिक की गिरफ्तारी से जुड़े केस की जांच अपने हाथ में ली

आतंकवाद को लेकर अंतरराष्ट्रीय मंचों पर पाकिस्तान को बेनकाब करने की भारत की कोशिशों के लिए ये एक बड़ी कामयाबी है. भारत लगातार इस आतंकी संगठन पर पाबंदी की मांग करता रहा है. हिज्बुल चीफ सैयद सलाहुद्दीन के लिए ये बड़ा झटका है जो अब तक अमेरिका को खुली चुनौती दे रहा था. Also Read - Jammu & Kashmir: Anantnag में Encounter में 4 आतंकी ढेर, मुठभेड़ जारी

अमेरिका के राजकोष विभाग की वेबसाइट पर जारी बयान में कहा गया है कि उसने पाकिस्तान स्थित इस हिज्बुल मुजाहिदीन पर पाबंदी लगा दी है. हिज्बुल के साथ साथ ये पाकिस्तान के लिए भी बड़ा झटका है. पाकिस्तान सरकार और सेना की शह पर ही ऐसे आतंकी संगठन पल और बढ़ रहे हैं.

अमेरिका द्वारा बैन लगाने के बाद अब इस आतंकी संगठन की किसी भी संपत्ति को अमेरिका में जब्त किया जाएगा. आतंकी संगठनों के लिए ये दूसरा बड़ा झटका है. जून में ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच मुलाकात से ठीक पहले अमेरिकी विदेश विभाग ने हिज्बुल मुजाहिदीन के मुखिया सैयद सलाहुद्दीन का नाम अंतरराष्ट्रीय आतंकवादियों की लिस्ट में शामिल कर लिया था.

हालांकि सलाहुद्दीन ने इस फैसले का मखौल उड़ाते हुए कहा था कि ये एक मूर्खतापूर्ण फैसला है. उसने कहा था, हमें आतंकी संगठन घोषित करे के लिए अमेरिका के पास एक भी घटना का सबूत नहीं है. इस मूर्खतापूर्ण फैसले से हमारा हौसला टूटने वाला नहीं है. हम कश्मीर में जेहाद जारी रखेंगे.