अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने बुधवार को विश्व नेताओं और निजी क्षेत्रों को जलवायु परिवर्तन के मुद्दे के सामाधान और स्वच्छ ऊर्जा के क्षेत्र में अधिक निवेशकों को प्रोत्साहित करने का आग्रह किया। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रपट के मुताबिक, ओबामा ने मनीला में फिलीपीन इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में बुधवार को ‘अपेक सीईओ सम्मेलन’ 2015 के मौके पर एक भाषण में यह बात कही। ओबामा ने कहा, “कोई भी देश जलवायु पर्वितन के परिणामों से अछूता नहीं है।” यह भी पढ़े – अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा से मिले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

ओबामा ने कहा, “पुरानी मान्यताओं के अनुसार अर्थव्यवस्था का विकास और पर्यावरण की सुरक्षा साथ-साथ नहीं हो सकते। लेकिन अब यह बात पुरानी हो गई है। हम अपने व्यापार को प्रभावित किए बगैर स्वच्छ ऊर्जा का विकल्प अपना सकते हैं।”ओबामा ने कहा कि चुनौतियां और अवसर हमेशा रहेंगे। सौर ऊर्जा और नवीकरणीय ऊर्जा का इस्तेमाल न केवल सस्ता है, बल्कि यह नए रोजगार भी पैदा कर सकता है।अपेक सीईओ सम्मेलन के दौरान भाषण के बाद ओबामा ने एक मंच की अगुवाई की।ओबामा ने ई कॉमर्स कंपनी ‘अलीबाबा’ के संस्थापक जैक मा और ‘साल्ट फिलीपींस’ के संस्थापक इंजीनियर आयसा मिजेनियो मिजेनो के सवालों को संबोधित किया। जैक मा ने कहा, “हमें लोगों की जिंदगी प्रभावित कर रहे जलवायु परिवर्तन के बारे में जन जागरूकता फैलानी चाहिए और साथ मिलकर काम करना चाहिए।”

समुद्री पानी लैंप तकनीक के अविष्कारक मिजेनो ने कहा, “जलवायु परिवर्तन एक कैंसर की तरह है। इस समय हम दूसरे चरण में हैं, जहां आपको लक्षण महसूस होंगे। आप इसे चौथे चरण तक नहीं पहुंचने देना चाहेंगे, जब बेहद देर हो चुकी हो।”मिजेनो ने कहा कि उनका लैंप एलईडी जलाने के लिए नमकीन पानी या समुद्री पानी का प्रयोग करता है। यह यूएसबी पोर्टल से मोबाईल फोन भी चार्ज कर सकता है।उन्हें ध्यान से सुन रहे ओबामा ने कहा, “छोटे कारोबार को कर प्रोत्साहन देने में सरकारों की भूमिका है।”