काराकास: अमेरिका के एक शीर्ष अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि पच्चीस देशों ने मानवीय सहायता के तौर पर वेनेजुएला को 100 मिलियन अमेरिकी डॉलर की सहायता राशि देने का वादा किया है. वेनेजुएला महंगाई और बुनियादी सामानों की कमी से त्रस्त है और ऐसे समय में विपक्षी नेता जुआन गुआदो और राष्ट्रपति निकोलस मादुरो देश की सत्ता के लिए लड़े रहे हैं. अमेरिका उन 50 से अधिक देशों में से एक है जिसने गुआदो को अंतरिम राष्ट्रपति के रूप में मान्यता दी है जबकि मादुरो को देश की सेना के साथ-साथ रूस, चीन और दर्जनों अन्य देशों का समर्थन प्राप्त है. ऑर्गेनाइजेशन ऑफ अमेरिकन स्टेट्स के सम्मेलन के बाद अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने वेनेजुएला को दी जाने वाली सहायता राशि की घोषणा की.

अमेरिका ने कहा, आतंकवादी संगठनों को समर्थन, सुरक्षित पनाह तुरंत बंद करे पाकिस्तान

रूस ने अमेरिका को चेतावनी दी
वहीँ रूस ने वेनेजुएला में अमेरिकी हस्तक्षेप के खिलाफ अमेरिका को चेतावनी दी है. रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने वेनेजुएला के आंतरिक मामलों में अमेरिकी हस्तक्षेप के खिलाफ अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो से अपनी आपत्ति दर्ज कराते हुए उन्हें चेतावनी दी है. रूसी विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि लावरोव ने अमेरिकी पक्ष की इस पहल पर पोम्पियो के साथ फोन पर बातचीत के दौरान यह टिप्पणी की. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, लावरोव ने अपने समकक्ष से कहा कि अगर अमेरिका हस्तक्षेप करता है तो उसे अंतर्राष्ट्रीय कानून के उल्लंघन का सामना करेगा. रूस की ओर से जारी बयान में कहा गया, “संयुक्त राष्ट्र चार्टर के सिद्धांतों के अनुरूप वेनेजुएला के विषय पर विमर्श करने की इच्छा व्यक्त की गई है.”

वेनेजुएला के राष्ट्रपति मादुरो ने EU के अल्टीमेटम को नकारा, स्वतंत्र चुनाव की शर्त से किया इंकार

वेनेजुएला में राजनीतिक संकट उस समय बढ़ गया जब विपक्षी नेता जुआन ग्वाइदो ने 23 जनवरी को सरकार विरोधी रैली के दौरान खुद को अंतरिम राष्ट्रपति घोषित कर दिया और आरोप लगाया कि राष्ट्रपति निकोलस मदुरो की सरकार अवैध है. अमेरिका सहित कुछ अन्य देशों ने ग्वाइदो के राष्ट्रपति पद को मान्यता दे दी है और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चेतावनी दी है कि सभी विकल्प मौजूद हैं. मदुरो ने जवाब में अमेरिका के साथ राजनयिक और राजनीतिक संबंधों को तोड़ देने की घोषणा की.

अमेरिका की मुस्लिम सांसद के ट्वीट पर विवाद, मांगी माफी, ट्रंप ने कहा- शर्म करो