सोची : रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सीरियाई नेता बशर अल-असद के साथ बैठक कर कहा कि सारिया में सैन्य सफलता से ‘‘राजनीतिक प्रक्रिया’’ शुरू करने में मदद मिलेगी साथ ही विदेशी सैन्य बलों की वापसी और देश के पुनर्निर्माण का मार्ग प्रशस्त होगा. सीरिया में संयुक्त राष्ट्र में विशेष दूत स्टेफन डी मिस्तूरा ने चेतावनी दी थी कि, विद्रोही कब्जे वाले इदलिब पर हमला वहां रहने वाले 23 लाख लोगों को प्रभावित कर सकता है. Also Read - रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के प्रवक्ता दमित्री पेसकोव कोरोना संक्रमि‍त, अस्‍पताल में भर्ती

दक्षिणी रूस में सम्पन्न हुई उच्च स्तरीय बैठक
गुरुवार को पुतिन ने असद से रूस के दक्षिणी शहर सोची में मुलाकात की. इस उच्च स्तरीय बैठक के बाद क्रेमलिन की ओर से जारी बयान में पुतिन ने कहा, ‘‘आतंकवादियों के खिलाफ लड़ाई में सीरियाई सरकार की सेना की सफलता के बाद राजनीतिक प्रक्रिया शुरू करने का माहौल तैयार हो रहा है.’’ गौरतलब है कि ब्लादिमिर पुतिन ने इसी वर्ष मार्च में नए परमाणु हथियारों की श्रृंखला पेश की थी. इन हथियारों में अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल, परमाणु शक्ति संपन्न वैश्विक दूरी की क्रूज मिसाइल और समुद्र के भीतर चलने वाला ड्रोन भी शामिल है. रुसी राष्ट्रपति पुतिन ने कहा कि हथियार विकसित करना उनके देश की हमेशा उच्च प्राथमिकता रहेगी. यूक्रेन संकट, सीरिया में युद्ध और अन्य विवादों के चलते पश्चिम देशों से संबंध बिगड़ने के कारण रूस ने सेना के आधुनिकीकरण को शीर्ष प्राथमिकता दी है.
(इनपुट एजेंसी ) Also Read - व्लादिमीर पुतिन का तानाशाह किम जोंग उन के लिए प्यार, द्वितीय विश्वयुद्ध स्मारक पदक से किया सम्मानित

Also Read - कोरोना वायरस: जी-20 वार्ता से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने की रूसी राष्ट्रपति से चर्चा