पेरिस: फ्रांस में कोरोना वायरस के खतरे को दरकिनार कर रविवार को स्थानीय चुनाव के लिए राष्ट्रव्यापी मतदान शुरू हुआ. हालांकि आशंका है कि ऐहतियात के तमाम प्रयासों के बावजूद कोरोना वायरस के डर से बड़ी संख्या में लोग मतदान से दूर रह सकते हैं. Also Read - कोविड-19 की जंग में बिग बी का एक और बड़ा कदम, एक लाख मजदूरों को राशन कराएंगे मुहैया

राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के लिए दो चरण में होने वाला चुनाव बड़ी कसौटी है. उनका कहना है कि महापौर और नगरपालिका परिषद का चुनाव देश में लोकतांत्रिक प्रक्रिया की निरंतरता सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक है. फ्रांस में शनिवार की शाम को गैर जरूरी सार्वजनिक स्थलों जैसे कैफे,सिनेमा हाल और जिम बंद करने के लिए जारी आदेश के बावजूद रविवार को पूरे देश में मतदान केंद्र स्थानीय समयानुसार सुबह आठ बजे खुल गए थे. Also Read - मोदी के नेतृत्व में भारत की जनता के सामूहिक संकल्प से परास्त होगा कोरोना: शिवराज सिंह चौहान

अधिकारियों ने दावा किया कि मतदान प्रक्रिया पूरी से तरह से स्वच्छता के माहौल में होगी. नगर निगमों ने मतदान केंद्रों को संक्रमण मुक्त करने, कतार में मतदाताओं के बीच सुरक्षित दूरी सुनिश्चित करने और हाथ धोने आदि की व्यवस्था करने का ऐलान किया है ताकि मतदाताओं के स्वास्थ्य को कोई खतरा न हो. उल्लेखनीय है कि स्थानीय चुनाव के दूसरे चरण में 22 मार्च को मतदान कराया जाएगा. करीब 35,000 नगर निकायों के लिए चार करोड़ 77 लाख लोग अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. Also Read - राजस्थान में कोरोना वायरस के 60 नए मरीजों की पुष्टि, कुल संख्या 266 हुई