what is New Coronavirus Strain in UK: भारत ने सोमवार को कहा कि कोरोना वायरस के नए स्वरूप के उभार के मद्देनजर 23 से 31 दिसंबर तक ब्रिटेन से भारत आने-जाने वाली उड़ानें स्थगित रहेंगी. फ्रांस, कनाडा, तुर्की, बेल्जियम, इटली और इजराइल समेत कुछ अन्य देशों ने भी ब्रिटेन से आने-जाने वाली उड़ानों पर रोक लगा दी है. Also Read - टीके को लेकर लोगों में संदेह! एम्स निदेशक बोले- डरें मत, वैक्सीन आपको मारेगी नहीं

वहीं ब्रिटेन की सरकार ने भी चेताया है कि नए किस्म के कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल सकता है और रविवार से वहां पर नयी पाबंदियां लगायी गई हैं. अब ऐसे में सवाल उठता है कि क्या ‘नए कोरोना वायरस’ को रोकने के लिए जो वैक्सीन बनी हैं या बन रही हैं वहीं कारगर साबित होंगी या फिर इसे रोकने के लिए फिर से नई वैक्सीन पर खोज शुरू होगी? Also Read - COVID-19 के बावजूद 2020 में 2.3 फीसदी की दर से बढ़ी चीन की अर्थव्यवस्था

नए कोरोना वायरस को कौन सी वैक्सीन रोकेगी? इस सवाल का जवाब को आने वाले समय में मिलेगा लेकिन रूस की वैक्सीन बनाने वाली कंपनी ने दावा किया है कि उसकी वैक्सीन इस नए कोरोना को रोकने में कारगर साबित होगी. जी हां, रूस की Sputnik V vaccine बनाने वाली कंपनी ने दावा किया है कि नए कोरोना वायरस को रोकने के लिए उसकी COVID-19 वैक्सीन “अत्यधिक प्रभावी” साबित होगी. Also Read - Ice Cream Tests Positive for Corona: आइसक्रीम में मिला कोरोना वायरस, मचा हड़कंप, फूड कंपनी सील

Sputnik V के ट्विटर हैंडल के अनुसार, रसियन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) किरिल दिमित्र (Kirill Dmitriev) ने कहा, “हमारी जानकारी के अनुसार, स्पुतनिक वी यूरोप में पाए जाने वाले कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के खिलाफ उतना ही प्रभावी होगा जितना कि मौजूदा कोरोना वायरस के खिलाफ. एस-प्रोटीन के पिछले म्यूटेशनों के बावजूद स्पुतनिक वी समय-समय पर अपनी प्रभावकारिता दिखाती रही है.”

स्पुतनिक वी की तरफ से ये दावा ऐसे समय में किया गया है जब दो दिन पहले ब्रिटिश प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा था कि नए वायरस मौजूदा वायरस की तुलना में 70 प्रतिशत अधिक संक्रामक है और लंदन में नए संक्रमणों के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. वायरस का यह नया स्वरूप 70 प्रतिशत ज्यादा संक्रामक बताया जा रहा है,लेकिन स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसे कोई साक्ष्य नहीं हैं कि यह ज्यादा जानलेवा है या टीके को लेकर यह अलग तरह की प्रतिक्रिया देगा.

इंग्लैंड के कुछ हिस्सों में कोरोना वायरस का एक नया प्रकार सामने आया है जो तेजी से फैल रहा है. माना जा रहा है कि वायरस का यह प्रकार या तो ब्रिटेन में किसी मरीज में उत्पन्न हुआ होगा या किसी ऐसे देश से आया हो सकता है जहां कोरोना वायरस के म्यूटेशन पर निगरानी रखने की क्षमता कम है.