World News: कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमीक्रोन (Omicron) को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने मंगलवार को अपील की है कि सिर्फ यात्रा पर प्रतिबंध लगाने से ओमिक्रॉन के प्रसार को रोका नहीं जा सकता है, इसके लिए सख्त नियम बनाने होंगे. खासकर 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को ज्यादा सावधानी बरतनी चाहिए. 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोग अभी यात्रा ना करें तो बेहतर है. WHO ने दुनिया के सभी देशों से शांति व धैर्य के साथ बचाव के उपायों को लागू करने की अपील की है.Also Read - Booster Dose: कोरोना के बूस्टर डोज को लेकर WHO की तरफ से आया यह बयान...

WHO ने कहा है कि कोरोना का अत्यधिक-संक्रामक वेरिएंट Omicron दुनिया भर में फैल रहा है और  कई देशों ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कोविड के नए ट्रैवल गाइडलाइंस को लागू करना शुरू कर दिया है, लेकिन ये काफी नहीं है. WHO चीफ टेड्रोस अधनम घेब्रेसस (Tedros Adhanom Ghebreysus) ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि, ‘हम सभी सदस्य देशों से बचाव के लिए समुचित कदम उठाने की अपील करते हैं.’ Also Read - WHO on Covid-19 Pandemic: विश्व आर्थिक मंच की एक बैठक में WHO के आपात स्थिति प्रमुख का बड़ा बयान

Also Read - Omicron: बूस्‍टर डोज की सबसे ज्‍यादा जरूरत किसे? जानिये डब्‍ल्‍यूएचओ क्‍या कहता है

बता दें कि कोविड-19 का यह नया वैरिएंट ओमिक्रॉन सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में पाया गया है. बीते सप्ताह जब दक्षिण अफ्रीका की ओर से इस नए वैरिएंट ओमीक्रोन के बारे में WHO को जानकारी दी गई तब तक यह नीदरलैंड पहुंच चुका था. वहां के स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि देश में नए कोविड-19 ओमीक्रोन से संक्रमण का नया मरीज मिला है.

नेशनल हेल्थ एन्वायर्नमेंट इंस्टीट्यूट ने बताया, ‘नवंबर की शुरुआत में ही लिए गए टेस्ट सैंपल में RIVM को ओमीक्रोन वैरिएंट का नया मरीज मिल गया है. संक्रमित मरीज का ये सैंपल 19-23 नवंबर के बीच GGD टेस्ट लेन्स में लिया गया था और वह पॉजिटिव पाया गया है.’

बता दें कि बोत्सवाना में 11 नवंबर 2021 को कोविड-19 के नए वैरिएंट ओमीक्रोन (B.1.1.529) का पता चला था. इसके बाद 14 नवंबर को यह दक्षिण अफ्रीका में मिला. WHO ने इसे वैरिएंट आफ कंसर्न की श्रेणी में डाला है.

वहीं, इन दिनों दक्षिण अफ्रीका के सभी प्रांतों में इस वैरिएंट से संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है, जो चिंता का विषय है. कोविड-19 वैरिएंट ओमीक्रोन की उत्पत्ति को लेकर अमेरिका, फिलीपींस, स्पेन, इजरायल, आस्ट्रिया, मोरक्को समेत अनेक देशों की ओर से अफ्रीकी देशों के लिए यात्रा प्रतिबंध लागू कर दिया गया है. इसके साथ ही कनाडा ने पिछले 14 दिनों के भीतर दक्षिण अफ्रीका की यात्रा करने वाले सभी विदेशी नागरिकों के प्रवेश पर रोक लगा दी है. भारत में भी यात्रा को लेकर विशेष गाइडलाइंस जारी किए गए हैं.