दुनिया में कोरोना ने खूब तबाही मचाई, लेकिन अब कोरोना की वैक्सीन की आपातकालीन मंजूरी दुनिया के कई देशों में दी जा चुकी है. ऐसे में भारत में भी टीकाकरण का काम शुरू होने वाला है. 16 जनवरी को इसकी शुरुआत होने वाली है लेकिन इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि कोरोना का दूसरा साल पहली साल की तुलना में और भी बुरा हो सकता है.Also Read - Pregnancy Tips: ओम‍िक्रोन के बढते खतरे के बीच क्‍या आप हो गई हैं प्रेग्‍नेंट, इन बातों का रखें खास ख्‍याल

WHO हेल्थ इमरजेंसी प्रोग्राम के कार्यकारी निदेशक माइकल रियान ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी का दूसरा साल ट्रांसमिशन डायनामिक्स पर पहले की तुलना में और अधिक कठिन हो सकता है. रेयान ने कहा कि हम अब दूसरे वर्ष में आ चुके हैं ऐसे में ट्रांसमिशन डायनेमिक्स को देखते हुए यह कठिन हो सकता है. Also Read - कब खत्म होगी कोरोना महामारी, क्या लोगों को हमेशा लगाना होगा मास्क? जानें अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने क्या कहा...

Also Read - Delhi में थम रही कोरोना की रफ्तार! बीते 24 घंटे में संक्रमण के नए मामलों से ज्यादा लोगों ने दी इस बीमारी को मात

जॉन हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के अनुसार WHO ने 11 मार्च को कोरोना को महामारी घोषित कर दिया था. बता दें कि आज के समय दुनिया भर में 9.21 करोड़ लोग कोरोना से संक्रमित हैं और लाखों लोगों की अबतक कोरोना से मौत हो चुकी है.