अमेरिका के टेक्सास प्रांत में एक 15 साल की किशोरी Facebook पर चलने वाले एक सेक्स रैकेट का शिकार हो गई. अभियुक्त ने फेसबुक पर खुद को दोस्त की तरह पेश कर किशोरी को अपनी जाल में फंसा लिया और उसके
बाद उसके साथ रेप, मारपीट और देह व्यापार में धकेल दिया गया. यह घटना 2012 की है. अब किशोरी एक महिला बन चुकी है. उसने अमेरिकी अदालत में मुकदमा दायर कर सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक को कटघरे में खड़ा कर दिया है. उसने फेसबुक पर आरोप लगाया है कि उसके अधिकारियों को यह पता था कि नबालिगों को उसकी साइट पर देह व्यापार का शिकार बनाया जा रहा है, लेकिन उसने इसे रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाया.

इस महिला ने सोमवार को ह्यूस्टन के हैरिस काउंटी डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में मुकदमा दायर किया. कोर्ट पेपर में महिला ने अपना नाम केवल जेन डो (Jane Doe) लिखा है. हालांकि फेसबुक ने इन आरोपों के बारे में अभी तक कोई
टिप्पणी नहीं की है.

कॉमन दोस्त बनकर लड़की को जाल में फंसाया
इस मुकदमे के मुताबिक 2012 में जब महिला किशोरी थी तब फेसबुक के एक यूजर के साथ उसकी दोस्ती हुई. वह यूजर ने खुद को किशोरी के कई कॉमन दोस्तों को जानने की बात कही थी. वह किशोरी को फेसबुक के जरिए मैसेज भेजता था. इस मुकदमें में यह भी आरोप लगाया गया है कि एक बार किशोरी की किसी बात को लेकर उसकी मां से कहासुनी हो गई, उसी वक्त उक्त फेसबुक फ्रेंड ने उसका साथ दिया और वह उसे उसके घर से लेकर चला गया. मां से नाराज किशोरी भी उसके साथ चली गई. किशोरी को उसके घर से ले जाने के बाद उसने उसके साथ मारपीट की और उसका रेप किया और उसकी तस्वीरें लेकर उसने उसे Backpage.com पर पोस्ट कर दिया.

Backpage.com देह व्यापार को बढ़ावा देने वाली एक वेबसाइट थी जिसे अमेरिकी प्रशासन ने अब बंद कर दिया है. महिला ने अपनी याचिका में कहा है कि फेसबुक यूर्जस को वेरिफाइ करने के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठाता. फेसबुक ने उसे कभी यह चेतावनी नहीं दी कि इस सोशल नेटवर्किंग साइट पर सेक्स रैकेट के दलाल भी हैं. इस बारे में सरकारी वकीलों ने भी कोई टिप्पणी नहीं की. Backpage.com को इसी साल बंद कर दिया गया था. अमेरिकी न्याय विभाग ने अपनी जांच में पाया था कि इस वेबसाइट का इस्तेमाल सेक्स रैकेट को बढ़ावा देने के लिए किया जाता था.