बीजिंग: दुनिया में फैले कोरोना महामारी के कारण अबतक लाखों लोगों की मौत हो चुकी है. ऐसे में चीन पर कई देशों द्वारा कोरोना वायरस के फैलाने का आरोप लगाया था. ऐसे में चीन भी शायद नहीं चाहता कि उसके इस राज से पर्दा उठे. क्योंकि चीन एजेंसियों द्वारा कोरोना वायरस की जांच को रोकने की पूरी कोशिश कर रहा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की टीम जोकि चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की उत्पति की जांच करने जाने वाली थी, उसे चीन ने जाने से रोक दिया और यह कहा कि जांच दल के सदस्यों के वीजा को मंजूरी नहीं दी गई है.Also Read - कर्नाटक में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामले, नियमों को लेकर सरकार सख्त; अपार्टमेंट्स के लिए गाइडलाइंस जारी

WHO के महानिदेशक टेड्रोस एडनोम ने चीन की इस हरकत पर नाराजगी जताते हुए कहा कि उन्होंने चीन को फोन कर उनकी टीम को चीन में प्रवेश करने की अनुमति देने को कही है. एडनोम ने कहा कि कुछ सदस्य जांच टीम के पहले ही यात्रा शुरू कर चुके हैं, ऐसे में चीन द्वारा रोक लगाए जाने को लेकर निराश हूं, अभी बाकी सदस्यों को यात्रा करने की अनुमति नहीं दी गई है. ट्रेडोस एडनोम ने कहा कि हम अभी चीनी अधिकारियों से संपर्क में हैं. Also Read - दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना के 628 नए मरीज, पॉजिटिविटी दर 8 फीसदी के पार

ट्रेडोस ने कहा कि उन्होंने यह स्पष्ट कर दिया है कि यह मिशन संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ एजेंसी की प्राथमिकता है. उन्होंने कहा कि उन्हें आश्वासन दिया गया था कि चीन इसके लिए आंतरिक प्रक्रियाओं को तेजी से पूरा कर रहा है. बता दें कि चीन में कोरोना महामारी के फैलने के बाद अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया ने चीन पर सवाल उठाते हुए कहा था कि वुहान से निकले कोरोना वायरस के स्त्रोत की जांच की जानी चाहिए. ऐसे में संभावना है कि विश्वभर से विशेषज्ञ वुहान पहुंच सकते हैं. Also Read - बिहार में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मरीज, अकेले पटना में मिले इतने संक्रमित; क्या फिर शुरू होगा पाबंदियों का दौर?