वाशिंगटन: भारत के बाहर दुनिया का पहला योग विश्वविद्यालय अमेरिका में इस साल शोध के साथ अपना परास्नातक पाठ्यक्रम शुरू करेगा. विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि इसके लिए दाखिले अप्रैल में शुरू होंगे. विवेकानंद योग विश्वविद्यालय (वायु) को 50 लाख डॉलर के बजट के साथ लॉस एंजिलिस में स्थापित किया गया है. Also Read - Corona Vaccination in India, Day 1: सफल रहा टीकाकरण अभियान का पहला दिन, 1,65,714 लोगों को लगाया गया टीका

विश्वविद्यालय ने एक बयान में कहा कि केस वेस्टर्न विश्वविद्यालय के प्रोफेसर श्री श्रीनाथ को इसका अध्यक्ष नामित किया गया है और भारतीय योग गुरु एच आर नागेंद्र इसके चेयरमैन होंगे. बयान में कहा गया है, ‘‘पाठ्यक्रम अगस्त 2020 से शुरू होगा जिसके लिए संस्थापक अध्यक्ष के तौर पर श्री श्रीनाथ के नेतृत्व में योग में मास्टर पाठ्यक्रम के लिए अप्रैल 2020 से दाखिले शुरू होंगे.’’ Also Read - भारतीय नागरिक ने अमेरिका में किया 58 करोड़ का घोटाला, हजारों लोगों के साथ की धोखाधड़ी, दोष सिद्ध

विश्वविद्यालय ने योग आधारित उच्च शिक्षा मुहैया कराने के लिए नवंबर 2019 में ब्यूरो फॉर प्राइवेट पोस्टसेकण्डरी एजुकेशन, कैलिफोर्निया से आधिकारिक मान्यता प्राप्त होने के तीन महीनों के भीतर यह घोषणा की. ‘वायु’ को नासा के पूर्व वैज्ञानिक नागेंद्र के दिमाग की उपज बताया जाता है जो पिछले चार दशकों में योग को सामाजिक रूप से प्रासंगिक विज्ञान में बदलने पर काम कर रहे हैं. Also Read - IND vs AUS 4th Test Live Streaming: जानें कब और कहां देखें भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच चौथे टेस्ट का LIVE टेलीकास्ट और ऑनलाइन स्ट्रीमिंग

भारत में 2002 में पहला योग विश्वविद्यालय स्थापित करने के बाद नागेंद्र ने कहा कि उनकी इच्छा योग आधारित उच्च शिक्षा के लिए वैश्विक विश्वविद्यालय बनाने की है. विश्वविद्यालय के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के एक सदस्य प्रेम भंडारी ने कहा कि विश्वविद्यालय से अमेरिका में हजारों योग शिक्षकों को मदद मिलेगी जिनकी योग शिक्षा 200 या 500 घंटे के सर्टिफिकेट पाठ्यक्रम तक ही सीमित है.