Myanmar Military Coup News: म्यांमार में तख्तापलट होने और सत्ता सेना के अपने हाथों में लेने के बाद वहां जगह-जगह इसके खिलाफ भारी विरोध प्रदर्शन हो रहा है. 3 मार्च 2021 को शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे लोगों पर सुरक्षा बलों (Security Forces) की तरफ से गोलीबारी की गई, जिसमें कम से कम 38 की मौत हो गई है. संयुक्त राष्ट्र (United Nations) ने हिंसा को आलोचना की और कहा कि देश में जल्द से जल्द शांति बहाल होनी चाहिए. अब वीडियो देखने वाली वेबसाइट यूट्यूब ने म्यांमार सेना के पांच चैनलों को बैन कर दिया है. Also Read - म्यांमार में बड़ी संख्या में किया गया शवों का अंतिम संस्कार, अब तक 423 प्रदर्शनकारियों की मौत

यूट्यूब (YouTube) ने उसके दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने के आरोप में म्यांमार सेना द्वारा संचालित पांच चैनलों को बंद कर दिया है. कंपनी ने शुक्रवार को इस बारे में घोषणा की. इस बीच, म्यांमार के राजनीतिक संकट को लेकर होने वाली संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UN Security Council) की विशेष बैठक से पहले देश में सुरक्षा बलों द्वारा हिंसक कार्रवाई किए जाने के बावजूद सैन्य तख्तापलट (Military Coup in Myanmar) का विरोध बढ़ता ही जा रहा है. Also Read - Myanmar में पत्रकारों की गिरफ्तारी पर अमेरिका के पत्रकार संगठन ने की निंदा, की रिहाई की मांग

यूट्यूब ने कहा कि वह अन्य ऐसी समाग्री की भी जांच कर रहा है जो उसके नियमों का उल्लंघन करती हैं. इससे पहले फेसबुक (Facebook) ने घोषणा की थी कि उसने म्यांमार की सेना से संबंधित सभी पेजों को अपनी साइट और इंस्टाग्राम (Instagram) से भी हटा दिया है. अब यूट्यूब ने भी ऐसा ही निर्णय लिया है. गौरतलब है कि म्यांमार में सेना ने एक फरवरी को तख्तापलट कर देश की बागडोर अपने हाथ में ले ली थी. सेना का कहना है कि आंग सान सू ची की निर्वाचित असैन्य सरकार को हटाने का एक कारण यह है कि वह व्यापक चुनावी अनियमितताओं के आरोपों की ठीक से जांच करने में विफल रही है. Also Read - भारत की Myanmar में घटनाक्रम पर करीबी नजर, सभी मुद्दे को शांतिपूर्ण तरीके से सुलझने की दी नसीहत