नई दिल्लीः फेसबुक के पांच करोड़ यूजर्स के डाटा लीक होने के बाद सवालों में घिरे इस सोशल मीडिया के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने भारत को लेकर एक बार फिर सफाई दी है. उन्होंने कहा है कि उनकी कंपनी यह सुनिश्चित करेगी कि आने वाले समय में भारत में होने वाले चुनावों को प्रभावित करने के लिए इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल न किया जाए.Also Read - अब फेसबुक और इंस्टाग्राम ने लिया राहुल गांधी के अकाउंट पर एक्शन, बच्ची के माता-पिता से जुड़ी पोस्ट हटाई

Also Read - Facebook: फेसबुक भारत में छोटे व्यवसायों के आर्थिक सुधार के लिए विज्ञापन की मदद से करेगा प्रोत्साहन

न्यूयॉर्क टाइम्स अखबार को दिए एक इंटरव्यू में जकरबर्ग ने कहा है कि हम इस बात का पूरा ध्यान दे रहे हैं कि इस साल न केवल अमेरिका में होने वाले चुनावों बल्कि भारत और ब्राजील में होने वाले चुनावों में भी इस प्लेटफॉर्म का दुरुपयोग न हो. उन्होंने कहा कि यह साल निश्चित तौर पर बेहद अहम है. गौरतलब है कि इस साल भारत के कई राज्यों में विधानसभा चुनाव और अगले साल आम चुनाव होने वाले हैं. Also Read - Taliban के समर्थन में की पोस्ट तो होगी मुश्किल, तुरंत एक्शन लेगा फेसबुक Facebook

जकरबर्ग ने किया बड़ा खुलासा, कहा-‘ऐसे हो सकता है Facebook का गलत इस्तेमाल’

इसके साथ ही जकरबर्ग ने अपने यूजर्स से वेबसाइट से राजनीतिक विज्ञापन कंपनी कैम्ब्रिज एनालिटिका को डाटा एक्सेस करने की अनुमति देने के लिए माफी भी मांगी है. फेसबुक ने यूजर्स की अनुमति के बिना कैम्ब्रिज एनालिटिका को उनके डाटा एक्सेस करने की अनुमति दे दी थी. डाटा चोरी के इस मामले के उजागर होने के बाद भारत सहित दुनिया में हड़कंप मचा हुआ है. अपने बचाव में जकरबर्ग लगातार सफाई दे रहे हैं. पिछले कुछ दिनों में फेसबुक पर अपनी सफाई पोस्ट करने के बाद जकरबर्ग सीएनएन और न्यूयॉर्क टाइम्स को इंटरव्यू दे चुके हैं.

FB डेटा लीक मामले में जकरबर्ग ने मानी गलती, टाइमलाइन में दी सफाई

कल फेसबुक पोस्ट लिखा था

एक दिन पहले फेसबुक पर जकरबर्ग ने पोस्ट लिखा था, जिसमें उन्होंने कहा था कि मैं फेसबुक डेटा लीक मामले की वर्तमान स्थिति के बारे में जानकारी साझा करने आया हूं. इसमें वे प्रयास भी हैं, जो हमने इस मामले में पहले ही कर लिया है और वे भी हैं जो हम आगे करने वाले हैं. इसे उन्होंने एक टाइमलाइन से समझाया है. उन्होंने अपने इस पोस्ट में इस बात को भी समझाने की कोशिश की कि आगे वह किस तरह की चोरियों को रोकने की कोशिश करेंगे.