माय साइ (थाईलैंड): थाईलैंड में बचाव दल के गोताखोर शनिवार को उस गुफा में कई किलोमीटर भीतर पहुंचे, जिसमें पानी भर जाने से 12 लड़के और उनके फुटबाल कोच गत एक हफ्ते से फंसे हुए हैं. इससे इस खोज अभियान में थोड़ी उम्मीद जगी है. गत हफ्ते के अंत में 11 से 16 वर्ष के ये लड़के और उनके कोच थाम लुआंग गुफा में गए थे और तब से उनसे कोई सम्पर्क नहीं हो पाया है. भारी वर्षा के बाद पानी भरने से इस गुफा का प्रवेश द्वार बंद हो गया. Also Read - थाईलैंड गुफा मामला: नायक बनकर उभरे कोच एक्कापोल को नागरिकता मिलने का इंतजार

खोज अभियान भारी वर्षा से प्रभावित हो गया और इससे प्रवेशद्वार के पास सुरंग डूब गई है, जिससे गोताखोर आगे नहीं जा पा रहे थे. चियांग राय के गवर्नर नारोंगसाक ओसोटानाकोर्न ने बताया कि नेवी सील गोताखोर उस गुफा की गहराई में उस टी- जंक्शन पर पहुंचे, जहां से वह स्थान मात्र दो या तीन किलोमीटर दूर है, जहां लड़कों के फंसे होने की उम्मीद है. गोताखोर इसी स्थान पर पहले भी पहुंचे थे, लेकिन पानी का जलस्तर बढ़ने से वे वापस होने के लिए बाध्य हुए थे. Also Read - 17न की जद्दोजहद के बाद आखिरकार गुफा से निकाले गए सभी 12 लड़के और कोच

स्थिति पहले से बेहतर
सुरंगों में पानी का स्तर अंतत : कम हुआ क्योंकि पानी निकालने के लिए दर्जनों पंप लगाये गए हैं. म्यामां और लाओस सीमा के पास स्थित इस क्षेत्र में अभी भी वर्षा हो रही है. नारोंगसाक ने मीडियाकर्मियों से कहा, ”स्थिति आज कल और परसों से बेहतर है. जल स्तर में काफी कमी आयी है और हम प्रवेशद्वार के पास सभी चैंबरों से पानी बाहर निकाल रहे हैं.” Also Read - थाईलैंड की गुफा में फंसे बच्चों तक पहुंचने के लिए बनाई जा रहीं हैं 100 से अधिक चिमनियां

1000 से अधिक बचावकर्मी जुटे 
लड़कों की तलाश का अभियान सातवें दिन में प्रवेश करने के साथ ही अब ध्यान गुफा के भीतर उनके जिंदा रहने पर केंद्रित हो गया है, जहां कोई भोजन और प्रकाश नहीं है. इनके तलाश अभियान में 1000 से अधिक थाई बचावकर्मी लगे हैं.

चार देशों के विशेषज्ञ भी कर रहे मदद
30 से अधिक अमेरिकी सैन्य कर्मी भी पहुंचे हैं. इसके साथ ही ऑस्ट्रेलियाई, चीन और जापानी विशेषज्ञ भी इस प्रयास में शामिल हुए हैं. (इनपुट- एजेंसी)